हार कर भी जीती ममता बनर्जी, तीसरी बार ली मुख्यमंत्री पद की शपथ…

 

बंगाल. सरकार बनने का सिलसिला सबसे पहले पश्चिम बंगाल से शुरु हो रहा है. पश्चिम बंगाल में तीसरी बार Mamta Banerjee की सरकार बनने जा रही है. तृणमूल कांग्रेस की शानदार जीत के बाद ममता बनर्जी ने आज एक बार फिर राज्य के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ले ली हैं. ये लगातार तीसरी बार है, जब ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनी हैं. ममता का शपथ ग्रहण समारोह राजभवन के टाउन हॉल में हुआ है. कोरोना संकट काल और उसकी गाइडलाइन्स की वजह से शपथ ग्रहण समारोह को ज्यादा लंबा नहीं रखा गया. वहीं बाकी विधायकों का शपथ ग्रहण समारोह गुरुवार और शुक्रवार को होगा.

जानकारी के मुताबिक, इस समारोह में प्रशांत किशोर समेत टीएमसी के बड़े नेता शामिल हुए हैं. उनके अलावा क्रिकेटर सौरव गांगुली, पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य, वाममोर्चा से विमान बोस, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष को भी शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रित है. Mamta Banerjee की पार्टी टीएमसी चुनावों में भले ही 2016 से भी बेहतर प्रदर्शन करने में कामयाब रही हो, लेकिन Mamta खुद नंदीग्राम से बीजेपी के शुभेंदु अधिकारी से हार गईं. अब क्योंकि ममता विधायक नहीं हैं और सीएम बनने जा रही हैं तो संविधान के मुताबिक उन्हें अगले 6 महीने में विधायक का चुनाव जीतना होगा.

बता दें कि Mamta Banerjee तीसरी बार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनी है. पहली बार वो 2011 में मुख्यमंत्री बनी थीं. तब उन्होंने बंगाल में 34 साल से काबिज लेफ्ट का सफाया कर दिया था. जिसके बाद 2012 में टाइम मैग्जीन ने उन्हें दुनिया की 100 प्रभावशाली हस्तियों की लिस्ट में जगह दी थी. इसके बाद 2016 में ममता दूसरी बार सीएम बनीं और अब 2021 में तीसरी बार भी ममता बनर्जी मुख्यमंत्री बन गई हैं.

5 जनवरी 1955 को कोलकाता में जन्‍म लेने वाली ममता केंद्र में दो बार रेल मंत्री रह चुकी हैं. उन्‍हें देश की पहली महिला रेल मंत्री बनने का गौरव प्राप्‍त है. ममता ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत कांग्रेस पार्टी से की थी. लेकिन मतभेद के चलते 1997 में उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी और अगले ही साल 1 जनवरी 1998 को तृणमूल कांग्रेस की स्थापना की. उसके बाद ममता ने अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार को समर्थन दिया और रेल मंत्री बनीं. उसके बाद उन्होंने यूपीए सरकार को भी समर्थन दिया. हालांकि, 2009 में उन्होंने यूपीए से खुद को अलग कर लिया.

बंगाल की 292 विधानसभा सीटों के नतीजे रविवार को आ गए. चुनावों में सीएम ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी ने 213 सीटें हासिल की हैं. वहीं, बीजेपी ने 77 सीटों पर जीत दर्ज की है. अन्य के खाते में दो सीटें आई हैं. लेफ्ट और कांग्रेस का तो सूपड़ा साफ हो गया है.

  • chashmaghar