कोरबी में टिका लगने के बाद 50 मवेशियों की मौत,100 से अधिक बीमार

 

। पोड़ी उपरोडा ब्लाक के ग्राम पंचायत कोरबी में एक सप्ताह के अंदर 50 से अधिक मवेशियों की मौत हो गई है। 100 से अधिक मवेशी छटपटा रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि 14 जुलाई को पशु चिकित्सा विभाग ने गांव में मवेशियों का टीकाकरण किया था। उसके बाद से मवेशी अस्वस्थ होकर दम तोड़ दे रहे हैं। ग्रामीण देवनारायण ने बताया कि मवेशियों को फोर्टीफाइड प्रोकेन पेनिसिलिन इंजेक्शन दिया गया ,जिसकी खाली सीसी हमारे पास है। उधर पशु चिकित्सा विभाग का कहना है कि मवेशियों के पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की वजह स्पष्ट हो सकेगी। विधायक मोहित राम केरकेट्टा ने इस घटना की जांच की मांग की है।

जिले के पोड़ी उपरोड़ा विकासखंड अंतर्गत ग्राम कोरबी में टीका लगाने के कुछ घण्टे/दिन के बाद करीब 50 मवेशियों की मौत हो गई। मवेशियों की मौत से गांव में हड़कंप और इनके पालकों में मातम के साथ चिंता है। मौत टीका लगने से हुई है या वे मवेशी किसी बीमारी की चपेट में थे, यह तो जांच का विषय है लेकिन मवेशी मालिकों का कहना है कि टीका लगने की वजह से जान गई है।

बताया गया कि 13 व 14 जुलाई 2021 को ग्राम कोरबी में पशु चिकित्सक उरांव व सहयोगी द्वारा फोर्टीफाइड प्रोकेन पेनिसिलिन इंजेक्शन आईपी इन मवेशियों को लगाया गया था। टीका लगने के कुछ घंटे बाद 5 किसानों के मवेशियों की जान चली गई तो कुछ मवेशी मरने की कगार पर हैं। ग्रामीणों के मुताबिक लगभग 50 बैल व गाय की मौत हुई है।

 पोड़ी उपरोड़ा विकासखंड अंतर्गत ग्राम कोरबी में टीका लगाने के कुछ घण्टे/दिन के बाद करीब 50 मवेशियों की मौत हो गई। मवेशियों की मौत से गांव में हड़कंप और इनके पालकों में मातम के साथ चिंता है। मौत टीका लगने से हुई है या वे मवेशी किसी बीमारी की चपेट में थे, यह तो जांच का विषय है लेकिन मवेशी मालिकों का कहना है कि टीका लगने की वजह से जान गई है।

बताया गया कि 13 व 14 जुलाई 2021 को ग्राम कोरबी में पशु चिकित्सक उरांव व सहयोगी द्वारा फोर्टीफाइड प्रोकेन पेनिसिलिन इंजेक्शन आईपी इन मवेशियों को लगाया गया था। टीका लगने के कुछ घंटे बाद 5 किसानों के मवेशियों की जान चली गई तो कुछ मवेशी मरने की कगार पर हैं। ग्रामीणों के मुताबिक लगभग 50 बैल व गाय की मौत हुई है।

दौरे पर पहुंचे पाली-तानाखार विधायक मोहितराम केरकेट्टा को ग्रामीणों ने मवेशियों को लगाए गए वैक्सीन इंजेक्शन की शीशी भी दिखाई।विधायक ने दु:ख व्यक्त करते हुए जांच की बात कही है। इनकी मौत डॉक्टर की लापरवाही से हुई है या फिर वजह कुछ और है, इसकी बारीकी से जांच कराई जाएगी। पीड़ित पशु मालिकों को मुआवजा दिलाने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा।

दौरे पर पहुंचे पाली-तानाखार विधायक मोहितराम केरकेट्टा को ग्रामीणों ने मवेशियों को लगाए गए वैक्सीन इंजेक्शन की शीशी भी दिखाई।विधायक ने दु:ख व्यक्त करते हुए जांच की बात कही है। इनकी मौत डॉक्टर की लापरवाही से हुई है या फिर वजह कुछ और है, इसकी बारीकी से जांच कराई जाएगी। पीड़ित पशु मालिकों को मुआवजा दिलाने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा।

 

  • chashmaghar