वेदांता आयोजित प्रथम अंतरराष्ट्रीय एल्यूमिनियम सम्मेलन देश को विश्व की एल्यूमिनियम राजधानी बनाने के संकल्प के साथ धूमधाम से संपन्न

 

नई दिल्ली, 15 फरवरी 2023। भारत में एल्यूमिनियम के सबसे बड़े उत्पादक वेदांता एल्यूमिनियम की ओर से आयोजित प्रथम अंतरराष्ट्रीय एल्यूमिनियम सम्मेलन में 13 देशो के लगभग 400 ग्राहकों और उद्योगों के नेतृत्वकर्ताओं ने महत्वपूर्ण उपस्थिति दर्ज कराई। ‘भारत को बनाएं विष्व की एल्यूमिनियम राजधानी’ विषय पर एल्यूमिनियम एसोसिएषन ऑफ़ इंडिया के सहयोग से आयोजित सम्मेलन में वैष्विक एल्यूमिनियम उद्योग और संबंधित क्षेत्रों के अगुवा प्रतिनिधियों ने अपने अनुभव परस्पर साझा किए। एल्यूमिनियम विनिर्माण क्षेत्र के उद्योगों, औद्योगिक मंचों और सरकार के बीच समन्वय स्थापित करने के लिए बड़ा व्यावसायिक मंच उपलब्ध कराने की दृष्टि से यह दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन महत्वपूर्ण रहा। सम्मेलन वेदांता एल्यूमिनियम के झारसुगुड़ा स्थित प्रचालन परिसर में 9 और 10 फरवरी, 2023 को आयोजित हुआ।

इस अवसर पर आयोजित प्रदर्षनी में अंतरराष्ट्रीय और दिग्गज घरेलू कंपनियों ने उद्योगों से संबंधित अनेक समाधान प्रस्तुत किए। प्रतिभागी अंतरराष्ट्रीय कंपनियों में जर्मनी की सीमेंस, स्विटजरलैंड की एबीबी, कनाडा की आरईईएल एल्यूमिनियम और डेनमार्क की सिमोनसेन तथा भारतीय कंपनियों में इंडियन आयल, अल्ट्राटेक और ग्रंडफोस आदि के प्रतिनिधि मौजूद थे।

एल्यूमिनियम विनिर्माण उद्योग, एल्यूमिनियम उत्पादन के लिए महत्वपूर्ण अग्रणी तकनीकों के आपूर्तिकर्ताओं, इलेक्ट्रिक वाहनों, स्मार्ट इंजीनियरिंग और डिजिटल तकनीक आदि से संबंधित उद्योगों के विशेषज्ञों , ग्राहकों और व्यवसाय के साझेदारों ने लगभग 45 तकनीकी सत्रों में भागीदारी की। ‘वल्र्ड क्लास स्मेल्टर्स-की परफाॅरमेंस इंडीकेटर्स विथ बेंचमार्क एनोड्स’ विषय पर आयोजित सत्र में आरएंडी कार्बन, स्विटजरलैंड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री मैथ्यू अर्लेटाज ने अपने विचार साझा किए। सीएईटीई, ब्राजील के निदेषक श्री डागोबर्टो शुबर्ट सेवरो ने ‘रिसेंट न्यूमेरिकल सिम्युलेशन इनोवेशन इन द एल्यूमिनियम स्मेल्टिंग इंडस्ट्री’ विषय पर एल्यूमिनियम के क्षेत्र में हो रहे विश्वस्तरीय नवाचारों से अवगत कराया।

झारसुगुड़ा में प्रस्तावित वेदांता एल्यूमिनियम पार्क में साझेदारी के इच्छुक ग्राहकों, आपूर्तिकर्ताओं और उद्योगों ने भी सम्मेलन में भागीदारी की। सम्मेलन के दौरान आयोजित अंतरराष्ट्रीय प्रदर्षनी में एल्यूमिनियम उत्पादन और संबंधित क्षेत्रों की 30 से अधिक कंपनियों ने तकनीकी और विनिर्माण कुशलता का प्रदर्षन किया।

वैष्विक बिजली उद्योग के लिए 12 मिलीमीटर एल्यूमिनियम वायर रॉड लॉन्च किया जाना सम्मेलन का बड़ा आकर्षण रहा। 12 मिमी वायर रॉड वेदांता के उच्च कोटि के वायर रॉड उत्पादों की श्रृंखला में नई पेशकश है। इस सेगमेंट में 7.6 मिमी, 9.5 मिमी और 15 मिमी ईसी-ग्रेड वायर रॉड, एलाॅय वायर रॉड (8एक्एक्सएक्स सीरीज़) और फ्लिप कॉइल उपलब्ध हैं। वेदांता की उत्पादन क्षमता 560 किलो टन है। वेदांता एल्यूमिनियम उच्च गुणवत्ता के इलेक्ट्रिकल कंडक्टर (ईसी) ग्रेड वायर रॉड का सबसे बड़ा उत्पादक है जिसका प्रयोग बिजली उद्योग में पारेषण और वितरण तंत्र के लिए वायर और केबल के तौर पर किया जाता है। इसके साथ ही कॉइल और वाइंडिंग, हीटिंग और कूलिंग ट्यूब आदि उपकरणों में ईसी वायर रॉड का प्रयोग होता है।

दुनियाभर के विभिन्न उद्योगों से आए प्रतिनिधिमंडलों को भारत और ओडिशा राज्य की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत से परिचित कराने के लिए रंगारग आयोजन किए गए। ओडिशा ग्रामीण विकास तथा विपणन सोसाइटी (ओआरएमएएस) की सहभागिता में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों और प्रदर्षनियों में स्थानीय कलाकारों ने शास्त्रीय नृत्य एवं संगीत के अलावा सौरा चित्रकला और ढोकरा कला आदि की बेहतरीन प्रस्तुतियों से सभी का दिल जीत लिया।

वेदांता लिमिटेड, एल्यूमिनियम व्यवसाय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री राहुल शर्मा ने कहा कि ‘‘ दुनिया के धातु एवं विनिर्माण क्षेत्र को अपने नवाचारों से बेहतर बनाने वाले विश्व के बेहतरीन विचारकों और विशेषज्ञों की मेजबानी कर हम गौरवान्वित हैं। इस बात की हमें प्रसन्नता है कि आयोजन में झारसुगुड़ा मेगा स्मेल्टर प्रोजेक्ट के उन प्रमुख विशेषज्ञों ने हमारे साथ कंधे से कंधा मिलाकर भागीदारी की जिनका एल्यूमिनियम उत्पादन मूल्य श्रृंखला में अहम योगदान है। एल्यूमिनियम उद्योग के अगुवा विचारकों ने अंतरराष्ट्रीय सहयोग के नए अवसरों का मार्ग प्रशस्त्र किया है। विचारों और उत्कृष्ट कार्यशैलियों के आदान-प्रदान से एल्यूमिनियम उद्योग की विनिर्माण उत्कृष्टता और निरंतरता को नए आयाम मिलेंगे। प्रथम अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में मिले अनुभव हमें अपने ग्राहकों, व्यवसाय के साझेदारों और स्टेकहोल्डरों के साथ मिलकर देश को दुनिया की एल्यूमिनियम राजधानी के तौर पर स्थापित करने में मदद करेंगे।’’

स्पेक्ट्राफ्लो एनालिटिक्स लिमिटेड, स्विट्जरलैंड की मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुश्री पेट्रा मुहलेन ने कहा कि ‘‘वेदांता एल्यूमिनियम द्वारा यहां आयोजित सम्मेलन में भागीदारी कर मुझे बहुत खुशी है। दुनिया भर की अपनी यात्राओं और विभिन्न सम्मेलनों में भागीदारी से मिले अनुभव के आधार पर मेरा मानना है कि वेदांता ने भारत का पहला अंतरराष्ट्रीय एल्यूमिनियम सम्मेलन विशेषज्ञता और व्यावसायिक उत्कृष्टता के साथ आयोजित किया। बड़ी संख्या में भारतीय विनिर्माताओं ने सम्मेलन में उपस्थिति दर्ज कराई जिनके साथ हमने अपने विचार बांटे। सुंदर स्थान पर उम्दा एवं यादगार आयोजन के लिए मैं वेदांता एल्यूमिनियम को साधुवाद देती हूं।’’

वेदांता लिमिटेड की इकाई वेदांता एल्यूमिनियम भारत की सबसे बड़ी एल्यूमिनियम उत्पादक है। वित्तीय वर्ष 2021-22 में 22.7 लाख टन उत्पादन के साथ कंपनी ने भारत के कुल एल्यूमिनियम का आधे से ज्यादा हिस्सा उत्पादित किया। यह मूल्य संवर्धित एल्यूमिनियम उत्पादों के मामले में अग्रणी है, इन उत्पादों का प्रयोग कई अहम उद्योगों में किया जाता है। वेदांता एल्यूमिनियम को एल्यूमिनियम उद्योग में डाउ जोंस सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स (डीजेएसआई) 2022 में दूसरी वैश्विक रैंकिंग मिली है, जो इसकी सस्टेनेबल डेवलपमेंट प्रक्रियाओं का प्रमाण है। देश भर में अपने विश्वस्तरीय एल्यूमिनियम स्मेल्टर्स, एल्यूमिना रिफाइनरी और पावर प्लांट्स के साथ कंपनी हरित भविष्य के लिए विभिन्न कार्यों में एल्यूमिनियम के प्रयोग को बढ़ावा देने और इसे ‘भविष्य की धातु’ के रूप में पेश करने के अपने मिशन को पूरा करती है।