कोरबा में शुरू हुआ कैंसर का उपचार, अब मरीजों को नहीं जाना पड़ेगा बाहर…..मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में शुरू हुई कैंसर की सर्जरी….ब्रेस्ट कैंसर का हुआ सफल ऑपरेशन, महिला को मिली नई जिंदगी

 

कोरबा 29 मार्च 2023/ राज्य शासन द्वारा स्वास्थ्य सुविधाओं में की जा रही वृद्धि का परिणाम लोगों को मिलने लगा है। जिले में नवीन मेडिकल कॉलेज खोले जाने से बड़ी से बड़ी बीमारियों का उपचार की राह आसान होने लगी है। इसी कड़ी में कैंसर जैसी बीमारी के उपचार के लिए बड़े शहरों और महानगरों की ओर जाने वाले मरीजों को अब बाहर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। उन्हें शहर के मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में उपचार का लाभ मिलने लगा है। इससे मरीजों को अनावश्यक पैसे भी खर्च नहीं करने पड़ेंगे और मरीजों के समय की बर्बादी भी नहीं होगी। सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में होने वाला जटिल से जटिल ऑपरेशन तथा इलाज अब जिला चिकित्सालय कोरबा में कराना संभव हो गया है। मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय के चिकित्सक डॉ प्रभात पाणीग्रही एम.एस. तथा उनकी टीम के द्वारा एक 35 वर्षीय महिला के ब्रेस्ट कैंसर का सफल ऑपरेशन किया गया है, जिससे जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं में वृद्धि की एक नई प्रगति दिखाई देने लगी है।

मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में कैंसर की सर्जरी शुरू होने से जिले के मरीजों में उम्मीद की किरण जग गई हैं, इसके पूर्व कोरबा तथा मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय कोरबा में कैंसर के मरीजों के लिए उपचार तथा ऑपरेशन की सुविधा नहीं होने के कारण जिले के कैंसर से पीड़ित मरीजों को बिलासपुर, रायपुर तथा अन्य राज्यों में जाकर इलाज करवाना पडता था। यह बेहद खर्चीला था और आने-जाने तथा ठहरने में समय के साथ अनावश्यक परेशानी उठानी पड़ती थी। अब जबकि जिले के कैसर पीड़ित मरीजों को मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय कोरबा में इलाज की सुविधा उपलब्ध है तो मरीजों की एक बड़ी समस्या का निराकरण संभव हो पाया है। मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में पदस्थ डॉ. पाणीग्रही द्वारा बताया गया कि कैंसर बीमारी तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रही हैं। 04 जनवरी 2023 को मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय कोरबा में एक 35 वर्षीय महिला जो ब्रेस्ट कैंसर स्टेज 2बी की समस्या से जूझ रही थी, उसे एडमिट कराया गया। आयुष्मान भारत स्कीम के तहत उसका ऑपरेशन किया गया। इसके पूर्व यह महिला 1 वर्ष से भी अधिक समय से अलग-अलग अस्पताल में जाकर इलाज एवं ऑपरेशन के लिए भटक रही थी। यहां इसका सफल ऑपरेशन किया गया जिससे महिला को नई जिन्दगी मिल गई। उन्होंने बताया कि महिला के रिकव्हरी की रफ्तार भी अच्छी है। हम प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं और आवश्यकतानुसार उसका कीमो और रेडियोथेरेपी का ट्रीटमेंट किया जाएगा।
कलेक्टर संजीव कुमार झा के मार्गदर्शन में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.एस.एन केशरी तथा डॉ. अविनाश मेश्राम, अधिष्ठाता, डॉ. गोपाल कंवर, मेडिकल सुपरीटेंडेंट शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय के नेतृत्व में मेडिकल कॉलेज चिकित्सा के क्षेत्र में प्रगति कर रहा है। टीम द्वारा किए गए ब्रेस्ट कैसर ऑपरेशन करने पर बधाई देते हुए सीएमएचओ सहित अस्पताल के चिकित्सकों ने कहा है कि भविष्य में क्षेत्र की जनता जो विभिन्न बीमारियों से पीडित है तथा इलाज तथा ऑपरेशन कराने में असमर्थ हैं उनका इलाज एवं ऑपरेशन जिला चिकित्सालय में किया जाएं। उन्होंने जिले की जनता से अपील किया है कि कैंसर के शुरूआती लक्षणों को नजरअंदाज ना करें , मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय कोरबा में पदस्थ चिकित्सक डॉ.प्रभात पाणीग्रही, एम.बी.बी.एस.,एम.एस.,फैलोशिप इन ऑन्कोलॉजी टी.एम.एच से सलाह लें।